Hindi Stories Life Student Uncategorized

भालू और दो मित्र: पंचतंत्र की कहानी

2 Friends Story
भालू और दो मित्र:

दोस्तों जीवन में कई बार ऐसा समय आता है जब हम कामयाब होने की बावजूद अपने जीवन की उलझनों से परेशान रहते हैं, इसका एक कारन ये भी हो सकता है की – कही कोई आपके कामयाबी का गलत फायदा तो नहीं उठा रहा है?

जी हाँ दोस्तों जीवन में हमें success, discipline के अलावा ये भी समझना चाहिए की कही आपका फायदा तो नहीं उठाया जा रहा है| आपके आस पास कई ऐसे व्यक्ति होंगे जो आपके शुभचिंतक बनने का दावा करते होंगे परन्तु मन ही मन में आपके कामयाबी से जलते भी होंगे, दोस्तों ऐसे लोग आपके सोच से भी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते है क्युकी हो सकता है वह आपके मित्र बनने का दावा करते हो परन्तु अंदर ही अंदर कोई रंजिश भी पाल कर बैठे हो आप उन पर भरोसा करके अपने सारे रहस्य उजागर कर देते है और अंत में वो आपके रहस्यों से अपना फायदा निकाल लेते है| ये वो लोग होते हैं जो जिंदगी में ऐश-ओ-आराम में अपना सारा समय वयतीत कर देते है और फिर जब कोई उनसे अच्छा काम करता दीखता है या किसी से उनका comparison होने लगता है तो उन्हें बर्दास्त नहीं होता है|दोस्तों हमें इनसे सदैव बच कर रहना चाहिए. तथा किसी पर भी आँख बंद कर के भरोसा नहीं करना चाहिए हमेशा अपने आँख और कान खुले रखना चाहिए|

किसी ने बहुत सही कहा है

Fake friends show their true colors
when they don’t need you anymore.

Be Aware”

दोस्तों आज हम एक ऐसी ही कहानी लेकर आये हैं, जो आपको जीवन में सतर्कता के लिए प्रेरित करेगी| तो चलिए शुरू करते हैं आज की यह प्रेरक कहानी जिसका शीर्षक है :“ सतर्कता बरकरार रखें ”

एक बार दो दोस्त जंगल से गुजर रहे थे। उस जंगल में जंगली जानवरों का बहुत खौफ था। दोनों ने आपस में वादा किया कि किसी तरह का खतरा आने पर एक-दूसरे का साथ देंगे। जब वे जंगल के बीचोंबीच पहुंचे तो अचानक उन्होंने देखा|सामने से एक भालू आ रहा है।

एक दोस्त खतरा भांप कर फटाफट पास के पेड़ पर चढ़ गया, लेकिन दूसरा पेड़ पर चढ़ना नहीं जानता था|

दोस्त ने भी मदद के लिए हाथ आगे नहीं बढ़ाया। तब उसने अपना दिमाग लगाया। वह चुपचाप जमीन पर लेट गया और सांस रोक ली। उसने ऐसे जताया मानों उसमें प्राण ही न हों। भालू पास आया और उसे सूंघने लगा। उसने उसके कान और मुंह के पास सूंघा और कोई हरकत न देखकर वहां से चला गया। दरअसल, भालू मरे हुए जीवों को नहीं खाते। भालू के जाने के बाद दोस्त पेड़ से उतरा और अपने दोस्त से बोला, ‘भालू तुम्हारे कान में क्या कह रहा था।’

दोस्त ने कहा, ‘वह मुझसे कह रहा था कि झूठे दोस्त पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए।’ यह कहकर वह आगे बढ़ गया।

दोस्तों इस कहानी से हमे सबक मिलता है की सच्चा दोस्त हमेशा हर परिस्थित में आपका साथ देता है, दोस्तों हमारे आस पास भी ऐसे ही बहुत से लोग हैं, जो हमारा शुभचिंतक(सबसे प्रिय) बनने का दावा करते हैं,  पर सदैव मौके की तलाश में रहते हैं की कब हम कोई गलती करें और वो हमें हंसी का पात्र बनाए|तो हमें हमेशा सतर्क रहना चाहिए और कभी किसी और पर निर्भर नहीं रहना चाहिए|याद रखे अपनी मदद से बड़ी कोई और मदद नहीं होती, तो कठिन परिस्थितियों में अपने आत्मविश्वास को गिरने ना दे|

क्यूंकि किसी ने कहा है:

I asked God to protect me from my enemies, then I started losing friends

दोस्तों आपको हमारी आज की ये कहानी कैसी लगी हमें Comments के द्वारा जरूर बताइयेगा| एवं  Pahals.in को  Share करना बिल्कुल ना भूले|

For Motivational & Inspirational Videos Visit Our Youtube Channel Pahals.in “A Learning Diary”